Paarijaat Hoon Main (Gazal Sangrah)

Paperback | by Love Kumar 'Pranay'
Paperback

200

Also available on:
SKU: 143 Category:

Description

श्री लव कुमार 'प्रणय' के नवीनतम ग़ज़ल संग्रह "पारिजात हूँ मैं" की ग़ज़लों में विषयों की विविधता,तीक्ष्ण दृष्टिबोध, शब्दों का चयन, भावों का श्रृंगार और शिल्प की कसावट देखते ही बनती है।यथा- प्रेम  का  पारिजात  हूँ  मैं तो। बस मुझे प्यार से सँवारो तुम।। इस संग्रह की विशेषता है कि...

Book details

Title Paarijaat Hoon Main (Gazal Sangrah)
Author Love Kumar 'Pranay'
Publisher Sahityapedia Publishing
ISBN 978-93-91470-03-6
Genre Poetry
Language Hindi
Format Paperback
Pages 117
Size 5.5x8.5
Publication Year 2021
Edition 1
Volume 1
Loading...